how to import in lightroom

How to import in lightroom

लाइटरूम एक बहुत ही लोकप्रिय फोटो एडिटिंग सॉफ्टवेयर है जिसे अडोबी ने बनाया है।  ये मुख्यतः अपने फास्ट वर्किंग स्पीड के लिए जाना जाता है। क्योंकि इसमें आप एक बार में बहुत से फोटोस को एक बार में एडिट कर सकते हैं। इसे बैच एडिटिंग कहते हैं। 

इसके लिए आपको सिर्फ एक फोटो को एडिट करना होता है और उसके बाद जो भी एडिट आपने उस फोटो में की है उनकी सेटिंगस को आप उस फोटो जैसी दूसरी फ़ोटोज़ पर paste कर दीजिए। आपके सभी फ़ोटोज़ 5 मिनट में एडिट होकर तैयार हैं। यहाँ ध्यान रखने वाली बात ये है की ऐसा नहीं है की आपके पास 100-200 फ़ोटोज़ हैं  और आपको सिर्फ एक फोटो एडिट करने से काम चल जाएगा। हाँ एक जैसे जीतने भी फ़ोटोज़ होंगे वो सभी एक बार में एडिट किए जा सकते हैं। 

इसे ऐसे समझें की मान लिया आप किसी डांस प्रतियोगिता को शूट कर रहे हैं। जाहिर सी बात है अलग अलग प्रतियोगियों के लिए अलग अलग लाइट सेटअप होंगी और कोई परफॉरमेंस ग्रुप में होगी कोई सिंगल परफ़ॉर्मर होगा कोई कपल परफ़ॉर्मर भी होंगे। काम्पिटिशन के बाद अवॉर्ड फंक्शन भी होंगे। 

तो इनमे से आप एक तरह की फ़ोटोज़, जैसे अवॉर्ड फ़ंक्शन की ज्यादातर फ़ोटोज़ एक जैसी होंगी क्योंकि सभी फ़ोटोज़ का बैकग्राउंड एक जैसा होगा,लाइटिंग भी एक जैसी ही होगी, सिर्फ अवॉर्ड पाने वालों के चेहरे बदलते जाएंगे। 

उसी तरह हर परफॉरमेंस में भी कुछ न कुछ फ़ोटोज़ एक जैसे ही होंगे। तो उन फ़ोटोज़ को आप एक बार में एडिट कर सकते हैं। आपको सिर्फ एक फोटो को एडिट करना है और उसके बाद उस फोटो की एडिट सेटिंगस को कॉपी कर लेना है। उसके बाद आपको जो भी  फोटो पिछले फोटो से मिलता जुलता लगे उसपर उसकी सेटिंगस paste कर  दें। आपकी फोटो तैयार है। ये काम कैसे का तरीका क्या है सके बारे में दूसरे पोस्ट में बात करेंगे। 

अभी ये समझ लीजिए की लाइटरूम में फोटो एडिट करने से पहले आपको सभी फ़ोटोज़ को लाइटरूम में इम्पोर्ट करना होता है। लाइटरूम में आप उसी फोटो को एडिट कर सकते हैं जिसे आपने लाइटरूम में इम्पोर्ट कर रखा हो। आइए देखते हैं लाइटरूम  में फोटो कैसे इम्पोर्ट करें 

सबसे पहले ये समझते हैं की लाइटरूम में इम्पोर्ट का क्या मतलब है। 

जैसा की आप जानते हैं लाइटरूम एक non destructive एडिटिंग सॉफ्टवेयर है। जो नहीं जानते उनके लिए बता  दूँ की लाइटरूम में फोटो एडिट करने से आपकी original फोटो में कोई चेंज नहीं आता। जब आप कोई फोटो लाइटरूम में इम्पोर्ट करते हैं तो लाइटरूम एक catlog में उस फोटो की सारी डिटेल्स सेव कर के रखता है और जब आप फोटो को एडिट करते हैं तो वो अपने कटलॉग में  ही चेंज करता है इस तरह आपकी original फाइल में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं आता। आपको याद होगा की कैसे एक बार जब आप फॉटोशॉप में किसी फोटो की बैकग्राउंड डिलीट कर के सेव कर देते हैं तो आप उसे वापस नहीं ला सकते। लेकिन लाइटरूम में ऐसी समस्या नहीं है, आपको जो भी करना है कर लीजिए फोटो के साथ और आपकी अरिजनल फोटो जैसे की तैसे रह जाती है। 

इसलिए जब आपको किसी फोटो को लाइटरूम में एडिट करना हो तो उसे उसके catlog में जोड़ना जरूरी होता है। यहाँ मैं एक बात बात दूँ की आप लाइटरूम में सिर्फ फ़ोटोज़ ही नहीं वीडियोज़ भी इम्पोर्ट कर सकते हैं और बाद में देख सकते हैं, लेकिन आप वीडियोज़ को एडिट नहीं कर सकते। 

आप सोचेंगे की आपकी फ़ोटोज़ तो आपने पहले से अपने कंप्युटर में सेव कर रखी है तो लाइटरूम में इम्पोर्ट करंगे तो ये तो आपके फोटो की दूसरी कॉपी बना लेगा फालतू में डबल स्पेस खा  जाएगा आपके हार्ड डिस्क की। तो मैं बात दूँ की ऐसा नहीं है, आपको फोटो सिर्फ एक बार ही कंप्युटर में रखनी होती है। 

जब आप किसी फोटो को लाइटरूम  में इम्पोर्ट करना चाहते हैं तो लाइटरूम आपको कई options देता हैइसे नीचे के फोटो से समझें 

बाईं तरफ के source सेक्शन के नीचे फ़ोल्डर ब्राउजर है, यहाँ आपको वो फ़ोल्डर सिलेक्ट करना होता है जहां से आपको फ़ोटोज़ इम्पोर्ट करनी है। 

इसके बाद ऊपर बीच में आप  देख सकते हैं 4 options 

पहला है copy as DNG

यदि आप इस ऑप्शन को सिलेक्ट करते हैं तो लाइटरूम आपके फोटो की एक कॉपी एक फ़ोल्डर में dng फॉर्मैट में कॉपी कर लेता है, DNG अडोबी का अपना RAW इमेज फॉर्मैट है। 

दूसरा है copy 

इसमें भी लाइटरूम आपकी फोटो को एक फ़ोल्डर में कॉपी कर देता है लेकिन इसमें लाइटरूम फोटो के फॉर्मैट को बदलता नहीं है। जैसे यदि आपकी फोटो jpeg फॉर्मैट में है या raw फॉर्मैट में है तो वैसे का वैसा ही कॉपी कर देता है। 

तीसरा है move 

इसमें लाइटरूम आपकी फोटो की कॉपी एक नए फ़ोल्डर में बना देता है और पुराने फ़ोल्डर में जहां ये था वहाँ से delete कर देता है। यदि आपकी फोटो मेमोरी कार्ड में है तो वहाँ  से इस तरह से इम्पोर्ट करना बेहतर होता है। क्योंकि इससे आपको बाद में मेमोरी कार्ड से इमेज delete करने का झंझट नहीं रहता । 

चौथा है  add 

इस ऑप्शन के इस्तेमाल से लाइटरूम आपके फोटो को जहां है वही छोड़ देता है और सिर्फ अपने catlog में जोड़ लेता है। यदि आपने अपने फोटो को लाइटरूम में इम्पोर्ट करने के पहले ही कंप्युटर में कॉपी कर लिया है तो ये option आपके लिए ही है।  इससे आपकी अरिजनल फोटो जहां थी और जैसी थी वैसी की  वैसी रह जाती है। 

तारीख या फ़ोल्डर का नाम

यहाँ मैं बात दूँ की जब आप लाइटरूम में फोटो इम्पोर्ट करते हैं तो लाइटरूम आपके कंप्युटर में वर्ष, महीने, और तिथि के नाम से एक फ़ोल्डर बना कर कॉपी करता है। इससे जब आप लाइटरूम का catlog चेक करेंगे तो तये आपको आपके फ़ोटोज़ को date फॉर्मैट में दिखाएगा। यदि आपको ये फॉर्मैट पसंद नहीं है या आपने अपने फ़ोटोज़ को पहले ही event के नाम से फ़ोल्डर बना कर उसमें कॉपी किया हुआ है तो आपको चौथा ऑप्शन इस्तेमाल करना चाहिए। 

इसे ऐसे समझें, मान लिया आप अभी तक अपने फ़ोटोज़ को ईवेंट के नाम से जैसे की रवि शर्मा की शादी या मनाली ट्रिप,  जैसे नाम से बने हुए फ़ोल्डर में सेव किया हुआ है और आपने इसे लाइटरूम में डेट फॉर्मैट में इम्पोर्ट कर लिया तो आपको फ़ोटोज़ को खोजने के लिए उसकी date याद रखनी होगी। लेकिन यदि आपने फोटो को सिर्फ add किया है अपने पुराने फ़ोल्डर स्ट्रक्चर के साथ तो आप लाइटरूम में भी फ़ोटोज़ को अपने फ़ोल्डर नाम से खोज सकते हैं। 

इसमे कोई भी फॉर्मैट सही या गलत नहीं है ये आपके personal preference की बात है की आपको क्या पसंद है। 

तो जब आपने फोटो को catlog में जोड़ने का ऑप्शन सिलेक्ट कर लिया तो उसके बाद आपको नीचे दाईं तरफ इम्पोर्ट बटन दिखेगा। इसे क्लिक कीजिए और थोड़ी ही देर में आपके फ़ोटोज़ लाइटरूम में इम्पोर्ट हो जाएंगे। 

इम्पोर्ट होने के बाद आपका स्क्रीन कुछ इस तरह दिखेगा। 

यहाँ आप देख सकते हैं लाइटरूम फ़ोटोज़ को इम्पोर्ट करने के बाद कैसा दिखता है।  बाईं तरफ फ़ोल्डर ब्राउजर है जहां  से आप सेलेक्ट कर सर सकते हैं की कौन सी फ़ोल्डर या कलेक्शन की फोटो आपको देखनी है। 

नीचे एक फिल्म स्ट्रिप में भी आप फ़ोटोज़ देख सकते हैं। ये फिल्म स्ट्रिप आपको develop module में भी दिखेगी। develop module वो सेक्शन है जहां आप फ़ोटोज़ एडिट करते हैं। लाइटरूम में फोटो कैसे एडिट करते हैं उसके लिए मेरा दूसरा आर्टिकल how to edit in  lightroom पढ़े। 

मैं उम्मीद करता हूँ की आपको लाइटरूम में फोटो इम्पोर्ट करने का तरीका अच्छे से समझ में आ गया होगा। यदि आपके मन में किसी तरह का सवाल है लाइटरूम में इम्पोर्ट के संबंध में, तो नीचे कमेन्ट में लिखें। मैं पूरी कोशिश करूंगा आपके सवालों के जवाब देने के । 

मैं उम्मीद करता हूँ की आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा।